HomeFamily Sex Storiesबुआ की चूत की चुदाई का मजा

बुआ की चूत की चुदाई का मजा

मेरी चचेरी बुआ की अभी शादी नहीं हुई है. बुआ का भरा बदन देख मैं बुआ की चुदाई करना चाहता था. मैंने कैसे अपनी बुआ की चूत को चोदा … पढ़ें मेरी हिन्दी सेक्स कहानी में!
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अंकुर है और मेरी उम्र 21 साल है। मेरे लंड का साइज 6 इंच है और मैं 160 सेमी का हट्टा कट्टा मर्द हूँ। मैं उत्तर प्रदेश के मैनपुरी का रहने वाला हूँ। मैं 2013 से अन्तर्वासना का पाठक हूँ। और अब तक कई लड़कियों और भाभियों को चोद चुका हूँ। कई मैनपुरी की लड़कियों और भाभियों ने मुझे काल करके चोदने के लिए बुलया है।
आज मैं आपको अपने जीवन की सच्ची घटना हिन्दी सेक्स कहानी सुनाने जा रहा हूँ।
यह घटना मेरी और मेरे पापा की चचेरी बहन यानि मेरी बुआ के बीच की चुदाई की है जो मुझसे 4 साल बड़ी है। मेरी बुआ का नाम आशा है उनकी लंबाई 145 सेमी है और उनका साइज 36-30-38 है यानी एकदम गद्देदार।
बुआ की माँ यानि मेरी छोटी दादी का निधन जब बुआ छोटी थी, तभी हो गया था। परिवार में खाना बनाने वाला और कोई नहीं था तो परिवार की सारी जिम्मेदारी बुआ पर आ गयी और उनकी पढ़ाई नहीं हो सकी। परिवार में उनके अलावा उनके 3 भाई और पापा थे।
आपका ज्यादा समय ना लेते हुए मैं सीधा कहानी पर आता हूँ। मैं छात्रावास में रहा कर पढ़ता था, मेरी बीच में छुट्टी हुई तो मैं घर आया। फिर मैंने सोचा कि क्यों ना बुआ से मिल आया जाए. तो बुआ का घर आ गया मैंने दरवाजा खटखटाया तो बुआ बाथरूम से बोली- कौन है?
मैं नहीं बोला … मैं उनको सरप्राइज देना चाहता था।
फिर कुछ देर बाद मैंने कहा- मैं हूँ अंकुर!
तो बोली- तुम रुको, मैं नहा लूं।
मैं वहीं खड़ा रहा.
बुआ के शायद कुछ कपड़े बाहर रह गये थे, वो लेने आयी थी. मैं दरवाजे के छेद से आंगन में देख रहा था. जैसे ही मैंने बुआ को केवल पैंटी में देखा, मैं तो पागल हो गया. उनका साँवला बदन, और उन पर मोटे मोटे उनके थन मुझे ललचा रहे थे.
जैसे तैसे मैंने कंट्रोल किया और उनको चोदने की ठान ली।
ऐसे ही समय बीत गया जुगत लगाते लगाते … पर ना मौका मिल पा रहा था, ना मैं उनसे अपने दिल की बात उनसे कह पा रहा था. हालांकि हम लोग शुरू से साथ रहने के कारण आपस में पूरे खुले हुए थे, सेक्स के मामले में भी काफी कुछ कर चुके थे. पर अब हिम्मत नई हो रही थी।
मैं आई आई टी की कोचिंग करने के लिए कोटा गया. पहली बार बाहर का माहौल देखा … साथ के दोस्तों की गर्लफ्रेंड थी तो मेरा भी मन करता था कि मेरी भी गर्लफ्रेंड हो, मैं भी उसे चोदूँ।
एक दिन ऐसे ही बुआ का ख्याल आ गया। मैंने काल की और बुआ से बात करते करते बोल दिया- बुआ, आप हमें बहुत अच्छी लगती हो, मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ।
बुआ हल्की सी मुस्कुराई और बोली- घर आओ, फिर आपसे मिलते हैं।
फिर हम लोगों की बात स्टार्ट हो गयी और एक दिन मैंने बुआ से बोल दिया- बुआ मुझे आपको चोदना है।
उन्होंने भी बोला- पहले घर आ … फिर सोचते हैं।
मैंने घर फोन किया- मैं घर आ रहा हूँ, थोड़ा काम है।
शाम को मैं घर पहुंचा. जैसे तैसे रात काटी, सुबह होते ही बुआ के घर पहुंच गया.
बुआ उस समय खाना बना रही थी. मैंने चुपके से जाकर उनको पीछे से जकड़ लिया. वो डर गयी और पीछे देखा तो मैं खड़ा था.
तो बुआ शर्मा गयी और बोली- बहुत बिगड़ गए हो तुम?
मैंने कहा- बुआ आपके चूचे देख के बुड्ढा भी बिगड़ जाए … हम तो आपके भतीजे हैं।
और मैंने बुआ के दोनों बूब्स कस के दबा दिए.
वो चिल्ला पड़ी- अभी नहीं।
मैं भी पीछे हट गया और उनके फ्री होने का इंतजार करने लगा. जैसे ही वो फ्री हुई, मेरे पास आयी, बोली- यार अभी नहीं।
मैंने थोड़ा उनको इमोशन ब्लैकमेल किया और कहा- मैं ऊपर रूम में इंतजार कर रहा हूँ. आप हमसे प्यार करती हैं तो आ जाना।
वो कुछ नहीं बोली।
मैं ऊपर इंतजार करने लगा. थोड़ी देर में उनके ऊपर आने की आवाज आयी। मैं खुश हो गया और मेरा लंड उफान लेने लगा कि आज तो बुआ की चूत मिलेगी।
बुआ जैसे ही ऊपर आयी और आते ही मुस्कराई. मैंने एकदम से उनको पकड़ कर चारपाई पर डाल लिया और उनको चूमने लगा।
वो भी मेरा साथ दे रही थी.
मैं अब एक हाथ से उनके मोटे मोटे बूब्स दबा रहा था. वो दोनों हाथों से मेरा सर पकड़ कर बहुत तेजी से मेरे होंठों को चूस रही थी।
मैंने उनके कान के पीछे चूमा तो वो और गर्म हो गयी और मेरे बालों में हाथ डाल कर सहलाने लगी।
फिर मैं नीचे आया और उनके कुर्ते को ऊपर करने लगा. वो उठी और कुर्ते को उतारने में मेरी सहायता करने लगी।
जैसे ही कुर्ता उतारा … वैसे ही गुलाबी ब्रा में कसे उनके मोटे मोटे थन मुझे पागल करने लगे. मैं ब्रा के ऊपर से ही उन पर टूट पड़ा।
बुआ ने कहा- आराम से करो … ये तुम्हारे ही हैं अब!
मैंने कहा- इनकी वजह से ही आज मैं आपको चोदने वाला हूँ।
वो बोली- ठीक है, जो भी करो … अब ये तुम्हारे हैं।
मैं अब नीचे आया और बुआ की सलवार का नाड़ा खोल दिया और सलवार उतार दी. बुआ काली पेंटी पहने थी.
अब मुझे बुआ की चूत देखने की जल्दी थी. मैंने झट से बुआ की पैंटी उतार दी। अब बुआ की चूत मेरे सामने थी। मैं चूत देखते ही उस पर टूट पड़ा और उसे चाटने लगा।
बुआ अब दोनों हाथों से मेरे सर को अपनी चूत पर दबा रही थी और सी सी सी … की आवाज कर रही थी।
और कुछ ही देर में बुआ एकदम से अकड़ी और अपना सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया।
अब मैं ऊपर आया और बुआ की ब्रा को उतारा और उनके नंगे बूब्स को पीने लगा।
बुआ बोली- अब और ना तड़पाओ … तुम मुझे चोदना चाहते थे तो अब चोदो ना!
मैंने उनकी ना सुनी और झट से अपना लंड उनके मुँह में डाल दिया।
वो इसके लिए तैयार नहीं थी और वो एकदम से सकपका गयी लेकिन फिर बाद में मेरे लंड को आराम से मुँह में लेकर चूसने लगी. थोड़ी देर में मैं उनके मुँह में ही झड़ गया।
अब मैं बुआ के होठों को चूमने लगा. उन्होंने एक हाथ से मेरे लंड को सहलाना चालू किया. थोड़ी देर में वो फिर से अपने रूप में आ गया।
बुआ बोली- वाह, अब तो मेरा भतीजा अपनी बुआ की चुदाई करेगा।
मैं नीचे आया और बुआ की कमर के नीचे तकिया रख कर उनकी गांड को ऊपर किया। मैंने बुआ के दोनों पैरों को अपने कंधे पर रखा और लंड को बुआ की चूत की तरफ बढ़ाया।
मैं लंड को बुआ की चूत में डालता, उससे पहले बुआ ने लंड को पकड़ के चूत का छेद पर रखा और नीचे की तरफ सरक गयी।
मैं अवाक रह गया.
बुआ बोली- देखते क्या हो? पूरा अंदर डालो!
मैंने धक्का दिया और मेरा लंड आराम से बुआ की चूत के अंदर चला गया. मैं समझ गया कि ये पहले चुद चुकी है.
खैर मैंने कुछ नहीं पूछा कि बुआ किस से चुदी है. मुझे तो बस बुआ की चुदाई करनी थी, मेरी ये भी हसरत पूरी हो रही थी।
मैंने झटके लगाने शुरू किए. बुआ भी नीचे से चूतड़ उठा उठा के मेरा साथ दे रही थी।
फिर मैंने बुआ को नीचे खड़ी करके चारपाई पर हाथ रखवा कर घोड़ी बना लिया और पीछे से लंड बुआ की चूत में घुसेड़ दिया।
अब मैं जोर जोर से बुआ की चूत की चुदाई करने लगा. बुआ इतनी देर में 2 बार झड़ चुकी थी.
मेरा भी निकलने वाला था. मैंने लंड को बुआ की चूत से बाहर निकाल के उनके मुँह में डाल दिया. बुआ मेरा सारा माल पी गयी।
तबसे अब तक मैं कई बार बुआ की चुदाई कर चुका हूँ।
अब बुआ की शादी हो गयी है।
दोस्तो, आपको मेरी बुआ की चुदाई की हिन्दी सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे इमेल करके बताना।

वीडियो शेयर करें
porn auntyindian love sexsuhaagraat stories in hindimami ka doodh piyaindian sex pronssax khaniyavasna story in hindihindi sex kahaneyastory kahanijangal me sexnew hindi sexy storycollage xxxsexi kahani marathiwww hindi hot story comhindi sex story lesbiangirl sex freegirlfriendsexmother son sex storiesxxx hot freeantravasna in hindiगंदी कहानियाhindi mai sex kahanimasti bhabhiantrvasna hindi sexy storytecher xxxhindi sex stpriessex setori hindemastram ki kahani hindi mewww hindi sex storry comchoti bahu ki chudaiindia sexy girlsdesiauntysaxy hindi khanimere ghar ki randiyateacher ne ki chudainew sex xxxmoti gaand wali auntysex stories with momwww sex bhabi combf हॉटभाभी ने कहा- नहीं नहीं,तुम यह क्या कर रहे हो मैं शादीशुदा हूँ मत कर यह गलत हैnew sex pronx gay sexindian first fuckgoy sexbua ki chudaimom son sex storyहॉस्टल सेक्सold man sex storiesdesi bhabhi ki chudai photoantervasna hindi sex story commaa ke sath shadihot sex kahanimastram hindi sexy storiesreal gay sex videosgaand chudai storywww desi sex kahanisex stories gaybhosda photofucking chutantravastha hindi storymaa aur mausi ki chudaihindi sexy storehot aunty hindi storyantaravasana.combahan ki chudai kahanihindi sex kahinihindi sachi kahaniantarwasana.comhindi se x storiesचुत की फिल्मnew indian desi sexindian hot gay sexindian honeymoon sex storieswife anal storiessex clg girlindain hot sexxex storynangi chut chudaixnxx/hot sexy fucking girlsantarvasna hindi storiesbhabhi nangisagi bahan ki chudaidesi hot chudaiमैं समझ गई कि आज मेरा काम बन गयाbolli machalumast bur ki chudaiteacher with sex